ARTICLE DESCRIPTION

संपादकीय

लंबित पड़े मामलों के बोझ तले दबे न्यायालय

21.05.18 298 Source: THE HINDU
लंबित पड़े मामलों के बोझ तले दबे न्यायालय

मई की शुरुआत में बॉम्बे हाईकोर्ट ने तब सब का ध्यान अपनी ओर खीचा था जब ग्रीष्म अवकाश से पहले आखिरी कार्य दिवस पर अधिकतर न्यायाधीश जहां शाम पांच बजे तक लंबित मामलों और अत्यावश्यक सुनवाई से जुड़े मामलों को निपटा रहे थे तो वहीं एक न्यायाधीश ने अपनी अदालत में सुबह तक सुनवाई की थी। हालांकि यह अदालत के 156 साल के इतिहास में एक दुर्लभ अवसर था, लेकिन, यह घटना भारत में अदालतों के लिए सामान्य प्रणालीगत मुद्दों पर प्रकाश डालता है.............. Download pdf to Read More